एक जैसे दोस्त सारे नही होते – Shayari Dosti

“एक जैसे दोस्त सारे नही होते,
कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते,
आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ,
कौन कहता है तारे जमीन पर नहीं होते”

एक जैसे दोस्त सारे नही होते - Shayari Dosti
एक जैसे दोस्त सारे नही होते – Shayari Dosti

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.